अगर परिवार में हमेशा होती हैं लड़ाई, ये हैं 3 बड़े कारण आज ही करे उपाय, पढ़िए

परिवार के सदस्यों के बीच सहमति या असहमति की स्थिति समय-समय पर हर घर में आवश्यकता से उत्पन्न होती है। लेकिन अगर आपके घर में हमेशा झगड़े, छोटी-छोटी बातों पर झगड़ा और बातचीत में झगड़ा होता है, तो आपको अपनी कुछ आदतों पर ध्यान देने की जरूरत है।

गरुड़ पुराण में कुछ ऐसी आदतों का जिक्र है जो घर में नकारात्मक माहौल पैदा करती हैं और लोगों में कलह की स्थिति पैदा करती हैं। बता दें कि हिंदू धर्म में गरुड़ पुराण और महापुराण को कहा जाता है और इसमें जीवन को बेहतर बनाने के लिए सभी चीजों का उल्लेख है, इसलिए हमें गरुड़ पुराण में कही गई इन बातों पर ध्यान देकर अपनी आदतों को सुधारने का प्रयास करना चाहिए ताकि जीवन को खुशहाल बनाया जा सके।

रात में गंदगी को छोड़ देना

इन बर्तनों को रात के खाने के बाद किचन में छोड़ना आजकल एक आम बात हो गई है। यह आप ज्यादातर घरों में देखते हैं, लेकिन गरुड़ पुराण के अनुसार यह आदत बिल्कुल भी अच्छी नहीं है। इससे परिवार में कलह और कलह उत्पन्न होता है और लोगों के बीच संबंधों में दरार आ जाती है। रात में बर्तनों को धोकर सही जगह पर रखने की सलाह दी जाती है।

घर को गंदा रखना

आजकल लोगों के पास समय कम है इसलिए वे नियमित रूप से घर की सफाई भी नहीं करते हैं। गरुड़ पुराण में कहा गया है कि घर को गंदा रखने से मां लक्ष्मी को जलन होती है। तेवा में परिवार में बार-बार बीमारियाँ आती हैं और फिजूलखर्ची बढ़ जाती है। आप चाहकर भी पैसे नहीं बचा सकते। धन की समस्या बढ़ने से घर में कलह की स्थिति बनती है और पूरे परिवार का माहौल नकारात्मक हो जाता है, इसलिए रोज सुबह घर की सफाई करनी चाहिए और पूजा करने के बाद घर में दीपक जलाना चाहिए।

घर में कूड़ा-करकट न जमा करें

गरुड़ पुराण के अनुसार, एक मुस्कुराते हुए परिवार में भी मलबा इकट्ठा करने से विवाद हो सकता है। इससे लोगों के रिश्तों में दरार आ जाती है और रिश्तों में कड़वाहट आ जाती है। परिवार में नकारात्मकता बढ़ती है, इसलिए यदि आपके घर की छत पर लोहे की चादर, टूटे फर्नीचर हैं तो उसे तुरंत हटा देना चाहिए।