सफलता की कहानी

बेटियाँ नसीब वालो को मिलती हैं, एक छोटी सी कहानी पिता और बेटी की

पिता ने बेटी के सर पर
हाथ रख कर बोला

मैं तेरे लिए ऐसा पति खोज कर लाऊंगा
जो तुझे बहुत प्यार करे
तेरी भावनाओ का सम्मान करे,
तेरे सुख दुःख को समझ सके ,
तेरी आँखों में आँसू न आने दे ,
तेरी हर छोटी सी छोटी
ख्वाईशो को पूरा कर सके

बेटी ने पूछा:- ऐसा क्यों पापा ?
पिता बोला :- बेटी हर बाप का सपना
होता है की उसकी बेटी को
राजकुमार जैसा पति मिले
जो उसे बहुत प्यार दे
और उसकी हमेशा खुश रखे

बेटी :- तो पापा नाना जी ने भी
आपको मम्मी का हाथ यही सोचकर दिया होगा
की आप भी राजकुमार हो

फिर आप मम्मी से हमेशा क्यों लड़ते और
उन्हें रुलाते हो ,
आप उन्हें कही बाहर भी नहीं ले जाते
और प्यार भी नहीं करते
और हमेशा मम्मी पर चिल्लाते रहते हो
क्या आप अच्छे वाले राजकुमार नहीं हो

ये सुन पिता को एहसास हुआ की
मुझे भी किसी ने राजकुमार समझ कर
अपने कलेजे का टुकड़ा सौपा दिया है

नौकरी करने वालो का फलसफा

आज खुद बाप बनने के बाद एहसास हुआ की
अगर अपने दिल के टुकड़े को सही हाथ में नहीं सौंपा
तो उसके दिल के टुकड़े हो जायेगे
जो कोई भी बाप नहीं सह पायेगा

इसलिए जैसा आप अपनी बेटी के लिए सोचते है
वैसा ही अपनी पत्नी के लिए सोचिए
उसे दुःख हुआ तो उसके पिता माता सबको दुःख होगा

कृपया कर अपने घर की औरतो को भी इज्जत और
प्यार दीजिये वो भी किसी की बेटी है उसकी राजकुमारी है।