खबरे

प्रेम रोग फिल्म में ऋषि कपूर की हीरोइन इस हालत में गुजार रही अपना जीवन यापन, आप भी देखकर रह जाएंगे दंग

News Update : पद्मिनी कोल्हापुर इंडस्ट्री की जानी-मानी एक्ट्रेस हैं। उन्होंने अपने अभिनय करियर में एक बेहतरीन फिल्म की है। उनमें से एक है प्रेम रोग। फिल्म के गानों के साथ-साथ फिल्म के डायलॉग्स और सितारों की एक्टिंग ने दर्शकों का दिल जीत लिया. पद्मिनी कोल्हापुर और ऋषि कपूर की ये फिल्म है जो आज भी लोगों की आंखों में आंसू ला देती है. आपको बता दें कि इस फिल्म में पद्मिनी कोल्हापुरे की एक्टिंग ने दर्शकों के दिलों में अपनी जगह बनाई थी।

पद्मिनी कोल्हापुरे की फिल्म ‘प्रेम रोग’ 1982 में रिलीज हुई थी और पिछले कुछ सालों में अभिनेत्री का लुक पूरी तरह से बदल गया है। आपको बता दें कि सादगी के लिए मशहूर एक्ट्रेस पद्मिनी कोल्हापुर आज भी उतनी ही फिट दिखती हैं।

फैंस उनके ग्लैमरस लुक की तारीफ करते नहीं थकते। उन्होंने हाल ही में एक रियलिटी शो की रील शेयर की है। इसे शेयर करने के बाद फैंस ने ये भी कहा कि तुम बिल्कुल नहीं बदले, वहीं दूसरे ने कहा कि क्या बात है.

वहीं अब एक्ट्रेस का वही गाना नए वर्जन में रिलीज किया गया है. जिसकी फैन्स ने काफी तारीफ की थी। आपको बता दें कि एक्ट्रेस अब 56 साल की हो चुकी हैं और अब तक उन्होंने एक नहीं बल्कि कई फिल्मों में काम किया है। उन्होंने ‘प्रेम रोग’ के अलावा ‘डेप्थ’, ‘इंसाफ का तराजू’ और ‘सत्यम शिवम सुंदरम’ में काम किया है।

प्रेम रोग ने चार फिल्मफेयर पुरस्कार जीते उल्लेखनीय है कि प्रेम रोग में शम्मी कपूर, नंदा, तनुजा, सुषमा सेठ, कुलभूषण खरबंदा, रजा मुराद, ओम प्रकाश, बिंदु जैसे अन्य कलाकार भी थे। प्रेम रोग ये गलियां ये चौबारा का गाना आज भी लोगों की आंखों में पानी ला देता है.

फिल्म ने सर्वश्रेष्ठ निर्देशक और सर्वश्रेष्ठ अभिनेता सहित चार फिल्मफेयर पुरस्कार जीते। पद्मिनी और ऋषि ने ये इश्क नहीं आसन, ज़मीन को देखना है, प्यार के काबिल, हवा और राही बादल गए सहित कई अन्य फिल्मों में भी काम किया है।

बाल कलाकार के रूप में अभिनय.. पद्मिनी ने कम उम्र से ही फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया था। पद्मिनी ने 1973 की फिल्म यादों की बारात में एक बाल कलाकार के रूप में कोरस गाया था। 56 साल की पद्मिनी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं। हाल ही में करवा छोथ की उनकी तस्वीरें वायरल हुई थीं।

पद्मिनी न सिर्फ एक बेहतरीन एक्ट्रेस बल्कि एक अच्छी सिंगर भी हैं। 1980 में रिलीज हुई फिल्म ‘घराई’ से पद्मिनी हैरान रह गईं। महज 15 साल की उम्र में उन्होंने न्यूड सीन दिया था। इस सीन के बाद लीड एक्ट्रेस के तौर पर काम करना उनके लिए आसान नहीं था। हालांकि फिल्म ‘प्रेम रोग’ के बाद पद्मिनी की गिनती टॉप एक्ट्रेसेस में होने लगी।

‘प्रेम रोग’, ‘इंसाफ का तारजू’, ‘अहिस्ता-अहिस्ता’, ‘प्यार जुक्ता नहीं’ जैसी फिल्मों में काम कर चुकीं पद्मिनी ने अपने फिल्मी करियर में कई बेहतरीन फिल्मों में काम किया है। इंसाफ का ताराजू में पद्मिनी ने एक नाबालिग लड़की का रोल प्ले किया था, जिसके साथ रेप हुआ था। रैप सीन करीब 7-8 मिनट का था। इतने लंबे रैप सीन ने काफी विवाद खड़ा किया और पद्मिनी की छवि को प्रभावित किया।