Home रोचक तथ्य स्त्री के इन अंगों में छुपा है गहरा राज़ और पुरुष महिलाओं...

स्त्री के इन अंगों में छुपा है गहरा राज़ और पुरुष महिलाओं को कभी ना दिखाएं अपना ये अंग

भारत देश में स्त्री को देवी का दर्जा दिया जाता है और लक्ष्मी भी कहा जाता है आपको बता दें कि हिंदू धर्म में लोग स्त्री को देवि रूप मानते हैं। अगर महिला ना हो तो दुनिया से इंसानों का वजूद मिट जाएगा। लेकिन इस दुनिया में एक भावना अभी तक बनी हुई है लोग लड़की होने के बाद लड़की को अभिशाप मानते हैं बहुत जगह इस सोच से छुटकारा मिल चुकी है लेकिन कहीं-कहीं अभी भी इस तरह की बातें सुनने को मिलती है जहां महिलाओं का अपमान किया जाता है बेटी होने पर गर्व करने की जगह उसे अभिशाप कहा जाता है। यह सोच की धारणा बहुत ही गलत है इसे मिटाने की जरूरत है।

आप सभी जानते हैं कि हम हो या आप सभी एक महिला के कारण इस दुनिया में आए हैं फिर भी लोग महिलाओं का अपमान करते हैं। देश के अधिकतर हिस्सों में यह अवधारणा बदल चुकी है लेकिन देश के कुछ ऐसे भी पिछड़े गांव हैं जहां बेटी होने पर मातम मनाया जाता है। लेकिन उन लोगों को यह बात पता नहीं है कि आज के युग में महिलाएं पुरुष से आगे हो चुकी है सभी क्षेत्र में महिलाओं का डंका बज रहा है। लड़की होने पर लोग कहते हैं बधाई हो आपके घर लक्ष्मी आई है तो क्या वाकई में लोग इस बात को मानते हैं। तो आपको एक बात बता दे की माता लक्ष्मी जिसकी हम पूजा करते हैं उनका उसी घर में बस होता है जिस घर में महिलाओं को सम्मान दिया जाता है पूजा जाता है अपमान नहीं किया जाता है।

भाग्यशाली होती है महिलाओं की ये खास अंगे : आज हम महिलाओं के कुछ ऐसे अंग के बारे में बात करेंगे जिनके अंग आम महिलाओं से थोड़े बड़े होते हैं उन महिलाओं को भाग्यशाली माना जाता है तो आइए जानते हैं विस्तार से।

जिन महिलाओं का गर्दन आम महिलाओं से थोड़ा लंबा होता है उन महिलाओं को अधिक भाग्यशाली माना जाता है। ऐसी महिलाओं के नक्षत्र में सुख भोगना लिखा हुआ रहता है।

जिन महिलाओं का सर आम महिलाओं से थोड़ा बड़ा होता है वह अपने परिवार के लिए सुख जाने वाली महिलाएं होती है आम महिलाओं से ज्यादा वह सुख प्राप्त करती है।

जिन महिलाओं के बाल ज्यादा लंबे होते हैं वह महिलाएं कुछ ज्यादा ही खूबसूरत दिखती है।

गरुड़ पुराण में यह कहा गया है कि पुरुषों को महिलाओं के सामने नग्न छाती और जांघ का प्रदर्शन नहीं करना चाहिए इससे महिलाओं के अपमान का पाप लगता है क्योंकि पुरुषों के छाती वीरता का प्रतीक होती है और जांग दुश्मनों को झुकाने का, तो कभी भी महिलाओं के सामने पुरुषों को अपनी छाती और जांघ का प्रदर्शन नहीं करना चाहिए।