Home रोचक तथ्य ये हैं दुनियाँ के सबसे अमीर भिखारी, बैंक बैलेंस जानकर रह जाएंगे...

ये हैं दुनियाँ के सबसे अमीर भिखारी, बैंक बैलेंस जानकर रह जाएंगे दंग

हैलो दोस्तो, भीख मांगने को अगर दुनियाँ का सबसे पुराना धंधा कहा जाये तो गलत नहीं होगा। एक ऐसा धंधा जिसमे प्रॉफ़िट की 100% संभावना रहती हैं। यह एक ऐसा धंधा हैं जिसे शुरू करने के लिए पूंजी की जरूरत नहीं होती हैं। इस धंधे को करने वाले आपको हर जगह मिल जाएंगे। इस धंधे को करने वाले लोगो को हमारी दुनियाँ भिखारी के नाम से जानती हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं इन सिक्को से ही उन भिखारियो की कमाई हो जाती हैं जो आपके मिलने वाले सैलेरी से कई ज्यदा हैं। इन भिखारियो का करोड़ो रुपए का बैंक बैलेंस होता हैं, चलिये हम जानते हैं विस्तार से:-

दोस्तो, आपको जानकर हैरानी होगी की भारत मे भीख मांगना पूरी तरह से गैर कानूनी हैं। लेकिन फिर भी भारत मे हर कोने मे इतने भिखारी मौजूद हैं, जिनकी गिनती भी आप नहीं कर सकते। मुंबई मे भाखरी लोग हर साल से 180 करोड़ से भी ज्यादा की कमाई कर लेते हैं। आप तो जानते हैं कि भारत मे 40% लोग गरीबी रेखा के नीचे हैं।

दिन भर की कमाई करने के करने के बाद गंदे-गंदे और फटे कपड़े को उतार कर एक खूंटी पर टांग देते हैं और साफ-सुधारे कपड़े पहनने के बाद समाज मे निकल पड़ते हैं। इन भिखारियो के घर के बाहर 4 विलर और 2 विलर लगे होते हैं। यही भारत के भिखारियो की रइशी वाली जिंदगी।

कई भिखारी तो ऐसे हैं जो फराटेदार अँग्रेजी मे बात कर लेते हैं। उनके बच्चे ठाठ से अच्छे स्कूल मे पढ़ते हैं। इनही भिखारियो मे से एक हैं:-

BHARAT JAIN:- भारत जैन मिंबई का रहने वाला हैं। यह दिन भर मे इतना कमा लेता हैं कि यह मुंबई मे 80 लाख मे दो दो फ्लेट को खरीद रखा हैं। कई सारे बैंक मे बैलेंस हैं।

HAAJI:- मिंबई का हाजी नाम का ये भिखारी हर रोज कम से कम 2000 रूपये आसानी से कमा लेता हैं। उसके पास कारख़ाना, खुद का मकान और लाखो के फ्लेट्स हैं।

KRISHAN KUMAR:- चारमी रोड का ये कृष्ण कुमार के पास लाखो के बहुमंजिला मकान हैं। इसके पास बोरियों से भरे हुए नोट मिले। यह तो उस समय पता चला जब उसके घर मे आग लग गयी।

अब आप सोच सकते हैं कि आप जो अपने जेब से 1 सिक्का निकालकर देते हैं, उसी से ये लोग की इतनी बरकत होती हैं।

भारत की राज्यधानी दिल्ली मे अगर आप देखेंगे तो बहुत सारे आपको भिखारी दिख जाएंगे। इनकी इन्कम रोजाना के हजारो रुपए मे होती हैं। मेरठ की अगर बात करे तो यहा के भिखारी हर साल 36 करोड़ कमा लेते हैं।


इलाहाबाद मे रेलवे स्टेशन के पास किराये मे भीख मांगने वाले भिखारी उपलब्ध कराये जाते हैं। यहाँ पर पुलिस को भी हिस्सा मिलता हैं। कानपुर मे तो भिखारियो का कॉर्पोरेट घराना हैं, जिसे पंडिताइन चाची नाम की एक वृदधा महिला चलाती हैं।

उत्तर प्रदेश मे भी भिखारियो की एक गैंग चलती हैं। उन सभी का टार्गेट ट्रेन मे भीख मांगना होता हैं। यहाँ पर एक गैंग चलती हैं यहाँ पर कोई बाहरी भिखारी आकर भीख नहीं मांग सकता। अगर बाहरी भिखारी को यहाँ पर भीख मांगना हैं तो उसे भी इस गिरोह मे शामिल होना पड़ेगा। और साथ-ही-साथ उसमे से कमाए हुए मे से टैक्स भी देना पड़ेगा।

पटना मे कुछ महिलाए दूध मुहे बच्चे को गोद मे लेकर भीख मांगते हुए दिखती हैं। यहाँ पर छोटे-छोटे बच्चे को किराए पर दे देते हैं। जब तक बच्चा छोटा हैं, उसे गोद मे लेकर भीख मांगना हैं और जब वह बड़ा हो जाता हैं उसे खुद भीख मांगने के लिए लगा दिया जाता हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक हमारे देश मे 4 लाख से ज्यादा भिखारी मौजूद हैं। उनमे से आधे से अधिक सिर्फ बच्चे हैं। कई सारे भिखारी ऐसे हैं, जिनहोने बी- टेक जैसी डिग्री भी ले रखी हैं। अगर हम सबसे अमीर भिखारी की बात करें तो सबसे पहले नंबर पर आते हैं, मुंबई के भारत जैन। यह मुंबई मे एक किराए पर रहते हैं जिसके लिए हर महीने 10,000 रुपए किराया देते।

दूसरे नंबर पर आती हैं कोलकाता मे रहने वाली लक्ष्मी। यह साल 1916 से ही भीख मांग रही हैं। यह हर महीने लगभग 45,000 से ज्यादा कमाई कर लेती हैं। इसका बैंक बैलेंस लगभग डेढ़ करोड़ रुपया हैं।

तीसरे नंबर पर आती हैं मुंबई की रहने वाली गीता। यह हर रोज अलग अलग इलाको मे भीख मांगती हैं। यह महिना के 50,000 की कमाई कर लेती हैं। इसे मुंबई जैसे इलाको मे कई सारे फ्लेट हैं। इसका बैंक बैलेंस बहुत ज्यादा हैं।


चौथे नंबर पर आते हैं पटना के रहने वाले पप्पू कुमार। पप्पू कुमार का बैंक बैलेंस 2 करोड़ से भी ज्यादा हैं। पप्पू पटना के अलग अलग इलाको मे हर रोज भीख मांगता हैं। पप्पू की शकल ऐसी हैं कि कोई भी उसे भीख देने से रोक ही नहीं पाता हैं। पप्पू अपने बच्चे कोई एक बहुत अच्छा स्कूल मे पढ़ा रहा हैं।

ये सभी भिखारी विदेशो मे भी सफर कर चुके हैं।