Home एजुकेशन पति ने ऑटो चलाकर पत्नी को पढ़ाकर बनाया डॉक्टर, दोनों की 8...

पति ने ऑटो चलाकर पत्नी को पढ़ाकर बनाया डॉक्टर, दोनों की 8 साल के उम्र मे ही हो गई थी शादी !

दोस्तों आज मैं आपको राजस्थान की रूपा यादव से मिलवाने जा रहे हैं जो अपनी मेहनत की दम से अपनि मंजिल को बनाया हैं। कहा जाता हैं की किस्मत कब किसका बदल जाए पता नहीं चलता बस अपना कर्म करते रहना चाहिए।

राजस्थान के राजस्थान के चौमू से जहां एक लड़की की पढ़ाई पूरा करना काफी कठिन हो गया था। लेकिन वो हार नहीं मनी और उसको पूरा करने के लिए हर मुमकिन कोशिश की और आज सफलता उसकी कदमे चूम रही हैं। दरअसल यह कहानी रूपा यादव की हैं। रूपा ने बताया की जब वो तीसरी कक्षा मे पढ़ती थी तो उसकी शादी करावा दी गयी थी। उस समय उसकी आयु 8 साल थी। तब मेरा स्कूल जान काफ़ी कठिन हुआ करता था। मैं पैदल स्कूल के लिए बस अड्डे तक जाती थी फिर बस पकड़ कर वहां से स्कूल के लिए जाना पड़ता था।

रूपा को बचपन से डॉक्टर बनने का सपना था। रूपा ने कठिनाइयों का सामना करते हुए अपनी शिक्षा पूरी की और वर्ष 2016 में NEET की परीक्षा पास की और उनके इतने अच्छे रैंक नहीं थे की उसे घर के पास ही स्टेट मिले। उसे महाराष्ट्र स्टेट मिला लेकिन ना घरवालों और ना ही ससुराल वालों नेइसकी इजाजत दी। वर्ष 2017 में फिर से नीट की परीक्षा दी और उसमें वह उत्तीर्ण हुई. रूपा ने इस बार आलइंडिया मे रैंक 2283 प्राप्त की।

रूपा की इच्छा पूरा करने के लिए उसके पति ऑटो रिक्शा चलाते थे जिससे वह रूपा की पढ़ाई का खर्चा उठा सके। रूपा अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए पूरे मन से मेहनत कर रही थी। रूपा की पढ़ाई के लिए इतनी लगन और चाहत देखकर उनके पति ने भी पढ़ाई करवाने का मन बनाया। और उसका सपना पूरा करवाया।