Trending Hindi jokesFunny jokesजोक्सLove jokesUPSCJokesमजेदार जोक्सहिंदी जोक्सIPSIASfactUPSC EXAM QNA

5000 सालों से हमे बावकूफ बनाया जा रहा था

दोस्तों अगर आप से पूछा जाए की दुनिया का सबसे रह’स्यमय जगह कौन सी हैं? तो आपका जबाव क्या होगा भले ही आपका जबाव कुछ भी हो लेकिन हम आपको दुनिया के एक ऐसे रह’स्यमय जगह के बारे मे बताने वाला हूँ जो पिछले 5 हजार सालो से अधिक समय से हजारों रहस्य समेटे हुए हैं। हम बात कर रहे हैं THE GREAT PYIRAMID OF GIZA की जिसे उस वक्त बनाया गया था जब हम इंसानो को यह भी नहीं पता था की पृथ्वी चपती हैं या फिर गोल।

यह उस वक्त बनाया गया था जब सिंधु घाटी की सभ्यता का और मेसोपोतामिया सभ्यता का विकास हो रहा था। इस पिरामिड मे 23 लाख से भी अधिक बड़े-बड़े पत्थरों को लगाया गया हैं। काही ऐसा तो नहीं की हम इंसान जिस पिरामिड को एक कलाकृतिओ मे से एक मानते हैं इन पिरामिडो को किसी बाहरी दुनिया से आए ऐलियन ने अपने किसी खास मकसद से बनाया हो। इन पिरामिडो को हम इन्सानो से 7 अजूबो मे से एक माना हैं। इस पिरामिड के अंदर ऐसा राज दफन हैं जिसका खुलासा आज तक नहीं हो पाया हैं।

दुनिया भर के वैज्ञानिक इस सवाल का जबाव नहीं ढूंढ पा रहे हैं की इतने बड़े-बड़े पत्थरों को एक साथ एजस्त कैसे किया गया हैं लेकिन इसका जबाव आज तक वैज्ञानिक नहीं ढूंढा पा रहे हैं इसलिए उन्होने बाहरी दुनिया से आए ऐलियन से जोड़ कर देखने लगे। कहा जाता हैं की पुराने समय मे मिश्र के लोग मा’रे हुए शरीर को एक खास लेप लगा कर उसपर कपड़े मे लपेट कर एक क’ब्र मे रखा दिया जाता था जिसे आज हम MUMMY कहते हैं लेकिन हैरानी की बात यह हैं की उस पिरामिड मे से एक भी MUMMY नहीं मिली हैं।

जिस चैंबर को उस वक्त की रानी का क’ब्र समझा जाता था उस क’ब्र मे से उस रानी का MUMMY मिली और जिस चैंबर को उस वक्त के राजा का क’ब्र समझा जाता था उस मे से भी उनका MUMMY नहीं मिला हैं। वहाँ के सारे TO-MB पूरे तरह से खाली थे। यह पिरामिड बाहर से देखने मे जितना र’हस्यमय लगता हैं उससे अधिक र’हस्यो से भरी वहाँ की सुरंग हैं। जो पूरे पिरामिड के एरिया मे जगह-जगह पर बनी हुए हैं।

इस पिरामिड के एक और खास बात यह हैं की जब आप इस पृथ्वी के सेंटर को खोजेगे तो बहुत ही हैरत अंगेज़ तरीके से पृथ्वी का सेंटर इस पिरामिड मे ही मिलेगा लेकिन जब उस वक्त के लोगो को यह तक नहीं पता था की हमारी पृथ्वी चपती हैं या फिर गोल।

इसके बावजूद भी इन्होने हमारी पृथ्वी का सेंटर का पता कैसे लगाया इसका जबाव किसी के पास नहीं हैं। इस पिरामिड का एक और हैरान करने वाली बात यह हैं की जिन पत्थरों से इस पिरामिड को बनाया गया हैं यह पत्थर आज के समय के पत्थरों से हजारो गुना भारी हैं तो फिर इस पिरामिड को बनाया कैसे गया हैं?