Home रोचक तथ्य सुबह उठकर ये 5 काम कभी ना करे, वरना आप अपनी ज़िंदगी...

सुबह उठकर ये 5 काम कभी ना करे, वरना आप अपनी ज़िंदगी मे बर्बाद हो जाओगे

हैलो दोस्तो, चाणक्य नीति चाणक्य द्वारा रचित एक ग्रंथ है। जिसमें जीवन को सुखी और सफल बनाने के लिए उपयोगी उपाय दिए गए हैं। इस ग्रंथ का मुख्य विषय मानव समाज को जीवन के हर एक पहलू को व्यवहारिक शिक्षा देना है। चाणक्य एक महान ज्ञानी थे। जिन्होंने अपनी नीतियों के बदौलत चंद्रगुप्त मौर्य को राजा की गद्दी पर बैठा दिया था। जानिए चाणक्य नीति के कुछ महत्वपूर्ण नीतियां जो आपके जीवन के किसी न किसी मोड़ पर काम आ सकती है।

दोस्तों चाहे मर जाना पड़े यह पांच काम सुबह उठकर कभी भी मत कीजिएगा। आज के एपिसोड में हम आपको पांच काम के बारे में ही बताएंगे, तो चलिए शुरू करते हैं:-

दोस्तों कहा जाता है कि दिन की शुरुआत अगर अच्छी हो तो पूरा दिन अच्छा जाता है। कोई भी ऐसा नहीं चाहता है कि उसका दिन उलझन और परेशानियों से घीरा रहे। हालांकि दोस्तो आपने कभी कभी महसूस किया होगा कि कोई दिन ऐसा बीतता है, समय पर ना तो खाना मिलता है और ना ही मन को चैन।

प्राचीन मान्यताओं के अनुसार सुबह के की गई कुछ गलतियों के कारण ऐसा होती है। इन गलतियों से आप अभी तक अनजान है। दोस्तों आपने अक्सर बड़े और बुजुर्गों लोगों को कहते हुए सुना होगा कि सुबह उठकर ऐसा काम मत करो। दरअसल मान्यताएं यह है कि सुबह उठकर कुछ गलत कर देने से पूरा दिन बर्बाद हो सकता है। चलिए हम आपको बताते हैं कि दिन की शुरुआत में ऐसी कौन सी काम है जिसे नहीं करनी चाहिए।

पहला:- सबसे पहला यह है कि सुबह उठते ही व्यक्ति को अपने परिवार वालों के साथ या दोस्तों के साथ वाद विवाद नहीं करनी चाहिए। सुबह उठकर वाद-विवाद करने से पूरा दिन तनाव बना रहता है। व्यक्ति को परिवार के साथ हमेशा प्रसन्न होकर रहना चाहिए।

दूसरा:- जो व्यक्ति सुबह उठते के साथ ही झूठ बोलने लगता है उसका पूरा दिन खराब हो जाता है। विशेषकर सुबह उठकर माता-पिता को बच्चों के सामने झूठ नहीं बोलना चाहिए। क्योंकि बच्चे माता पिता के द्वारा सिखाई गई हर एक चीज बहुत जल्दी सीख लेते हैं।

तीसरा:- शास्त्रों में कहा गया है कि सुबह उठने का सही समय ब्रह्म मुहूर्त होता है। जो व्यक्ति सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठ जाता है उसका जीवन खुशियों से भरा रहता है। जो व्यक्ति सूर्योदय के बाद भी सोता रहता है वह आलस का शिकार हो जाता है। ऐसा व्यक्ति अपने जीवन में कभी भी सफलता नही प्राप्त कर पाता।

चौथा:- आचार्य चाणक्य जी का कहना है कि सुबह उठकर व्यक्ति को परिवार के किसी भी सदस्य को अपमान नहीं करना चाहिए। सुबह उठकर आप किसी का अपमान कर देने से रिश्तो में दरार आने लगती है। सुबह उठकर हमेशा व्यक्ति को अपने से बड़ों का आदर सम्मान करना चाहिए।

पांचवा:- आचार्य चाणक्य बताते हैं कि व्यक्ति को सुबह उठकर किसी पर भी क्रोध नहीं करनी चाहिए। क्योंकि इंसान का सबसे बड़ा शत्रु क्रोध को बताया गया है। सुबह उठकर क्रोध करने से व्यक्ति का पूरा दिन खराब जाता है। व्यक्ति जीवन में सफलता प्राप्त नहीं कर पाता है।

इसलिए दोस्तों आप सुबह उठकर भूल कर भी इन कामों को मत करना। वरना आप जीवन में कभी भी एक सफल इंसान नहीं बन पाएंगे।