ये है भारत के देसी जुगाड़, विदेशो मे भी फेमस…

हैलो दोस्तों, दुनिया में अगर कभी भी जुगाड़ बाजी के मामले में प्रतियोगिता होती है तो जाहिर तौर पर सारे नाम भारत के नाम पर ही होंगे। आपको बता दें कि समय के साथ-साथ इंडिया की जुगाड़ प्रणाली पूरे विश्व में फैलने लगी है। यहां तक कि दूसरे देश इन जुगाड़ का इस्तेमाल भी करते हैं। आज के एपिसोड में हम आपको इंडियन जुगाड़ के बारे में बताने वाले हैं। जो कि पूरे विश्व भर में फैले हैं।

सबसे पहले हम बात कर रहे हैं छोटे से बच्चे की, जिसका नाम है दर्शन। दोस्तों असल में दर्शन की मां लोगों के घर जाकर कपड़े धोया करती थी। लेकिन एक दिन दर्शन की मां बीमार पड़ गई। 14 साल के इस लड़के ने अपने देसी जुगाड़ से एक वाशिंग मशीन ही बना डाली। आपको जानकर हैरानी होगी कि दर्शन ने इस वॉशिंग मशीन को बनाने में किसी भी खास चीज का इस्तेमाल नहीं किया।

एक बेकार साइकिल, प्लास्टिक का डब्बा और थोड़े से जाल का इस्तेमाल किया इस वाशिंग मशीन को बनाने में। इसे बनाने में दर्शन को डेढ़ महीने का टाइम लग गया। इसे चलाना काफी आसान है। बस अपने कपड़े को जाल के ऊपर रखना है। और साइकिल के पेंडल को घुमाते जाना है। और फिर इतना ही मैं कपड़े धो कर तैयार हो जाते हैं।

दोस्त आप तो जानते हैं कि हम किसी चिकन शॉप पर है मुर्गा लेने जाते हैं तो हमें तो वहां पर काफी इंतजार करना पड़ता है। लेकिन हमारे इंडिया वाले ने इसका भी एक जुगाड़ निकाला है जिससे हमें इंतजार करना ना पड़ेगा। उन्होंने छोटे डर्मी के अंदर कई सारे पाइप लगा दी है। और नीचे घुमाने वाली चरखी लगा दी। जिसे हम साइकिल के पेंडल से आराम से घुमा सकते हैं।

फिर दो-तीन मुर्गे को इसके अंदर डालो। बस 2 से 3 मिनट में आपका मुर्गा साफ सुथरा हो कर तैयार हो जाएगा। यह जुगाड़ चिकन शॉप वाले को काफी सहायता मिल सकती है।

दोस्तों बहुत सारे किसान लोग अपने अनाज को बचाने के लिए खेत में पुतला लगाते हैं। जो कि इंसान की जैसा दिखता है। लेकिन फिर भी उनकी फसल खराब हो जाती है। इसी समस्या को देखते हुए हमारे इंडियन ने एक जुगाड़ लगाएं। उन्होंने 1 पंखे के साथ स्टील को फिट कर दिया। उस पंखे के पीछे एक लकड़ी लगा दी। जो पंखे के साथ रोटेट होकर आवाज निकालती थी। इस आवाज को सुनकर पक्षी, जानवर की तो बात दूर है इंसान भी खेत में नहीं आना चाहता है।

दोस्तो आप में से अधिकतर लोग बाइक का इस्तेमाल घूमने या फिर उधर जाने का करते हैं। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो इसका इस्तेमाल मनमाफिक तरीके से करते हैं। इसके साथ ही बहुत सारे जुगाड़बाजी भी करते हैं। जैसे कि कुछ किसान लोग अपने चारा काटने के लिए बाइक का टायर लगा कर मशीन को स्टार्ट करते हैं। अपने देसी जुगाड़ के मदद से चारा काटने लगा।

दोस्तों भुट्टा खाने का शौकीन तो हर कोई होता है। लेकिन उसके दोनों को अलग-अलग निकालना बहुत मशक्कत का काम है। एक व्यक्ति ने ऐसे जुगाड़ को बनाया है जो कि कुछ ही सेकंड में भुट्टे के सारे दानों को अलग कर देता है। दोस्तों भारत के जुगाड़ टेक्निक अमेरिका वालों को बहुत पसंद आई।

अब आप मिलिए हरियाणा के कुलदीप से। जिन्होंने बाइक के इंजन से ही एक लाइट का अल्ट्राक्राफ्ट बना डाला। जो 1 लीटर पेट्रोल से 12 मिनट तक उड़ सकता है। कुलदीप ने चंडीगढ़ से टेक्निकल की पढ़ाई की है। इनके पिताजी एक किसान है। कुलदीप हमेशा से टेक्निकल चीजों को बनाने में बहुत इच्छुक रहते हैं।

दोस्त आप तो जानते हैं कि आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है। इस मामले में हमारे भारतीय कलाकार कभी भी पीछे नहीं रहते हैं। खेत में बिजली की उपलब्धता न होने के कारण अपनी मोटरसाइकिल से ही वील को चलाने लगे। क्योंकि खेत में सामान छोड़ने पर चोरी होने का डर रहता है। लेकिन बाइक के सहायता से खेतों में पानी डाला जा सकता है। इसके लिए बाइक का पिछला पहिया पूली पर रखकर चला देते हैं।

नारियल के ऊंचे पेड़ पर चढ़ने के लिए अक्सर लोग रस्सी का सहारा लेते हैं। कर्नाटक में नारियल की खेती एक ऊंचे स्तर पर की जाती है। वहां पर अधिकतर किसान राशि का सहारा लेकर पेड़ों पर चढ़ते हैं। इसमें उन्हें काफी खतरा भी उठाना पड़ता है। इसी सब को ध्यान में रखते हुए किसान ने नारियल के पेड़ पर चढ़ने के लिए कुछ जुगाड़ लगाइ। उन्होंने पेड़ पर चढ़ने के लिए एक मशीन बनाई। इस मशीन में ब्रेक भी लगाई गई है।