Home टेक्नोलॉजी ज्ञान आपकी इस गलती के कारण मोबाइल भी ब्लास्ट हो सकता हैं ….

आपकी इस गलती के कारण मोबाइल भी ब्लास्ट हो सकता हैं ….

हैलो दोस्तो, आप तो जानते हैं कि खाना-पानी और हवा के अलावा इन्सानो के लिए सबसे जरूरी चीज जो हैं वो हैं मोबाइल। लेकिन एक छोटी सी इलेक्ट्रोनिक डिवाइस पर ज्यादा प्रेसर देने से कभी कभी ऐसी घटनाए हो जाती हैं, जिसके बराए मे हम कभी सोच भी नहीं सकते। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि हर वक्त दुनियाँ मे कही-न-कही ऐसी घटना देखने और सुनने को मिल जाती हैं, जिस पर हमे यकीन भी नहीं होता। क्या आप कभी सोच सकते हैं कि जब किसी के हाथ मे या फिर किसी के पॉकेट मे मोबाइल फोन विस्फोट हो जाता हैं। कभी कभी ऐसा विस्फोट होता हैं कि इंसान की भी मौत हो जाती हैं।

दोस्तो, आप एक बात जान लीजिये कि जो भी चीज हम इन्सानो ने बनाया हैं उसमे कभी-न-कभी कोई-न-कोई गलती हो सकती हैं। मोबाइल फोन एक इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस हैं, जिसे हम इन्सानो ने ही बनाया हैं। इसके सिस्टम मे कोई-न-कोई गलती हो ही जाती हैं। कभी-कभी यह इतना खतरनाक तरीके से विस्फोट होता हैं, कि आप सोच भी नहीं सकते।

हम लोग ऐसी घटनाओ को नजरअंदाज करते रहते हैं। हम मे से अधिकतर लोगो को लगता हैं कि यह घटना कभी कभार होती हैं। अब हम आपको उन तरीको को बताने जा रहे हैं जिसे फॉलो करके आप अपने मोबाइल फोन को फटने से बचा सकते हैं।

LOCATION:- मोबाइल फोन को फटने से बचाने के लिए सबसे जरूरी चीज हैं लोकेशन। एक रिपोर्ट के अनुसार बताया गया हैं कि मोबाइल को 45 डिग्री से अधिक वाले इलाके मे लेकर नहीं जाना चाहिय। दरअसल मोबाइल की जो बैटरी होती हैं लिथियम नाम की तत्व से बनी होती हैं। जो कि बहुत ही ज्वलनशील पदार्थ हैं। मोबाइल का लोकेशन हमेशा ON रखना चाहिए।

गर्मी के दीनो मे मोबाइल फोन को बंद कार के अंदर तो बिलकुल भी नहीं रखना चाहिए। आप सभी लोगो ने ये गौर किया होगा कि हमारे मोबाइल फोन का बैटरी जब खराब होने लगता हैं तो फूल जाता हैं। फुले हुए बैटरी का उपयोग हमे कभी भी नहीं करना चाहिए।

हमारे मोबाइल की जब बैटरी फूलती हैं तो उस वक्त बैटरी मे मौजूद केमिकल आपस मे रिएक्शन करके गैस बनाने लगती हैं। इसे थोड़ा सा भी बाहरी सपोर्ट मिल जाता हैं तो वह तुरत आग के गोले मे बदल जाती हैं। आपके घर मे अगर फुली हुई बैटरी मौजूद हैं, तो उसे तुरंत अपने घर से बाहर कर दीजिये।

CHARGING:- मोबाइल फोन को फटने से बचाने के लिए हमे सबसे पहले ये ध्यान रखना चाहिए कि हम मोबाइल को कब और किस स्थिति मे चार्ज मे लगते हैं। कई बार ऐसा होता हैं कि कई लोग मोबाइल को धूप मे रखकर चार्ज मे लगाते हैं। आप कई बार ऐसा भी देखते होंगे कि कई बार मोबाइल को चार्ज मे लगाने के दौरान गरम हो जाता हैं। इसलिए हमे मोबाइल को चार्ज करते वक्त इन सब बात का ध्यान देना चाहिए।

एक घटना कजिकिस्तान मे हुई जब एक लड़की मोबाइल को चार्ज मे लगाकर गाना सुन रही थी। गाना सुनते-सुनते सो गयी। मोबाइल भी चारजिंग मे लगा था। मोबाइल को अपने कंबल के नीचे रख दी थी। मोबाइल रात मे ब्लास्ट हो गया, और लड़की की जान चली गयी। मोबाइल को चारजिंग करते वक्त कोई भी काम मोबाइल से न करे।

QUALITY:- हम कौन से कंपनी का मोबाइल का इस्तेमाला कर रहे हैं, हमे यह ध्यान देना बहुत जरूरी हैं। अकसर ऐसा होता हैं कि कुछ पैसो को बचाने के कारण सस्ती फोन को हम ले लेते हैं। मोबाइल जैसे इलेक्ट्रोनिक डिवाइस को हमेशा ब्रांडेड कंपनी से ही खरीदना चाहिए।

कई बार ऐसा होता हैं कि मोबाइल का चार्जर खराब हो जाता हैं, और हम लोग सस्ता चार्जर को घर ले आते हैं। सस्ती चार्जर का क्वालिटी खराब होने की वजह से मोबाइल फटने जैसी दुर्घटना हमारे सामने आ जाती हैं। खुद बड़ी-से-बड़ी कंपनी हमे कहती हैं, कि जो चार्जर हमे मोबाइल के साथ मिला हैं उसी को इस्तेमाल करना चाहिए।

SAFETY:- हम अगर सारे सुझाव को फॉलो किया हैं फिर भी हमारा मोबाइल किसी दुर्घटना का शिकार हो जाता हैं। अगर आपका फोन आपके शर्ट के जेब मे हैं या फिर पैंट के जेब मे हैं तो उसे तुरंत अपने जेब से बाहर निकाल दीजिये। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो शायद आपका मोबाइल विस्फोट का भी शिकार हो सकता हैं।