Home अजब गजब तो इस कारण से दुबई इतना अमीर हैं, जानिए सच्चाई…

तो इस कारण से दुबई इतना अमीर हैं, जानिए सच्चाई…

हैलो दोस्तों, आप तो जानते हैं कि दुबई दुनिया का सबसे अमीर शहर में से एक है। आमतौर पर दुबई लग्जरियस लाइफ के लिए जाना जाता है। दुबई के लोगों के लाइफ़स्टाइल आए दिन सोशल मीडिया पर देखने को मिलते हैं। यहां की पुलिस भी अक्सर सुपर करो में नजर आती है। लग्जरियस लाइफ दर्शाने वाला शहर दुबई किसी मायावी शहर से कम नहीं है।

अगर हम आज से 20 साल पहले जाए तो देखेंगे कि दुबई एक रेत का शहर था। दुबई के पास खाना और पीने के लिए पानी तक नहीं था। दोस्तों आखिर क्या आप जानते हैं कि 20 साल में दुबई के पास इतना पैसा कहां से आया? अगर आपको लगता है कि दुबई में तेल बेच कर इतना पैसा कमाया है तो आप गलत है। क्योंकि दुबई में तेल का GDP का हिस्सा सिर्फ 1% है। आज के एपिसोड में हम ईसी के बारे में विस्तार से जानेंगे।

साल 1966 में दुबई में तेल को खोजा गया था। लेकिन दुबई के शासक को पहले से पता था कि कि तेल बेचकर ज्यादा दिन तक पैसा नहीं कमा पाएंगे। इसलिए वह लोग पहले से ही दुबई के इन्फ्राट्रक्चर पर काम करना शुरू कर दिया। दुबई के अमीर सिटी बनाने के लिए कई सारे फैक्टर शामिल है। और दुबई के लीडर का भी सबसे बड़ा हाथ है।

कंट्रीब्यूशन ऑफ दुबई लीडर: दुबई को अमीर सिटी बनाने में यहां के रूलर और यहां के प्राइम मिनिस्टर शेख मोहम्मद बिन रशीद का बहुत बड़ा हाथ है। शेख मोहम्मद है पहले से जानते थे कि तेल बेच कर ज्यादा समय तक नहीं रहा जा सकता। इसीलिए उन्होंने तेल से ध्यान हटा कर दो भाई के इंफ्रास्ट्रक्चर पर ध्यान देना शुरू कर दिया। और वहां एक टूरिस्ट सेंटर बना दिया।

दुबई के पास इतना पैसा कहां से आया? तो इसका भी जवाब शेख मोहम्मद रशीद ही है।

टूरिज्म: टूरिज्म एक सबसे बड़ा कारण है जिसके कारण दुबई के पास आज इतना सारा पैसा है। यहां की बड़ी-बड़ी इमारतें जैसे बुर्ज खलीफा, दुबई मरीना, underwater zoo, Dubai fountain, Bollywood park… ऐसे कई सारे इमारतें हैं जो टूरिस्ट का ध्यान आकर्षित करती है। यहां के होटल और शॉपिंग मॉल में भी अलग तरह का नशा होता है।

हम जिस आलीशान जिंदगी की सपने देखते हैं दुबई वही जीते जागते शहर है।

दुबई मार्केट: दुबई का बाजार टूरिस्ट को खरीदारी करने के लिए आकर्षित करता है। दुबई को middle-east शॉपिंग कैपिटल भी कहते हैं। यहां पर कई सारे ऐसे समान है जो सस्ते में ही मिलते हैं। दुबई के शॉपिंग मॉल के सबसे खासियत बात यह है कि यहां पर जरूरत का सारा सामान एक ही छत के नीचे मिल जाता है। आज दुनिया का सबसे बड़ा शॉपिंग मॉल दुबई में ही मौजूद है।

दुबई का टेंपरेचर: दुबई का टेंपरेचर अधिक होने के कारण यहां सूती कपड़े ज्यादा पहने जाते हैं। जो इन्हें गर्मी से बचाते हैं। इस कारण दुबई में कपड़ों का भी बहुत बड़ा मार्केट है। जो fashionable dress के लिए फेमस हैं। इसलिए दुबई को फैशन कैपिटल भी कहा जाता है।

दुबई में सोने का व्यापार: हम भारतीय लोग सोना पहनना ज्यादा पसंद करते हैं। वैसे आप लोग जानते ही होंगे कि दुबई में सोने का व्यापार सबसे ज्यादा होता है। दुबई में सोने का बहुत बड़ा बाजार है। सोने की खरीदारी के लिए दुबई बहुत अच्छी जगह भी है। यहां सोने की क्वालिटी भी बहुत बढ़िया होती है।

फ्री ट्रेड जोन: यहां पर हवाई अड्डा बंदरगाह पर ध्यान दिया गया है। Free trade zone आयत और निर्यात के लिए सुविधाजनक बना देता है। यहां पर कई सारे ड्यूटी शुल्क को कम कर दिया जाता है। दुबई बहुत सारे चीजों में टैक्स और ट्रेड में स्कीम देता है। जिस वजह से इन्वेस्टर वहां पर इन्वेस्ट करने के लिए मजबूर हो जाते हैं। ट्रेड जोन की वजह से दुबई को इकोनॉमिकल ज्यादा प्रॉफिट हुआ है। इसके साथ ही विदेशी व्यापार भी तेजी से बढ़ा है।

दुबई automobiles, fabric, gold, रियल स्टेट का बहुत बड़ा बाजार है। जिस कारण इन्वेस्टरो की नजर यहां पर बनी रहती है। Free trade zone दुबई के अमीर में सबसे बड़ा कारण है।

रियल स्टेट डेवलपमेंट प्रोजेक्ट: दुबई रियल एस्टेट डेवलपमेंट प्रोजेक्ट पर ज्यादा ध्यान देता है। दुबई ने अचल संपत्तियों को बहुत कीमती बना दिया है। यहां करोड़ों अरबों की कीमत में लोग घर खरीदते हैं। इन्वेस्टर भी यहां पर कई अच्छी तरह से इन्वेस्ट करते हैं। दुबई में बनाई गई बुर्ज खलीफा और कई सारे इमारतों में सेलिब्रिटी की प्रॉपर्टीज आपको मिल जाएगी।

दुबई में प्रॉपर्टी को खरीदना और उसे ऊंचे दाम पर बेचता यही दुबई के अमीर का सबसे बड़ा कारण भी है।

दुबई में बिल्डिंग बनाने के पहले यहां के प्राइम मिनिस्टर शेख ने कई सारे इंजीनियर से कांटेक्ट किया। इस प्रकार मोहम्मद शेख को अंदाजा हो गया कि कई सालों पहले यहां पानी हुआ करती थी। Expert से बात करने के बाद उन लोगों ने भी कहा कि कई सालों पहले यहां से पानी गुजरा होगा। और वो पानी आज भी जमीन के नीचे दबा हो सकता है।

जिसके बाद शेख ने हाई टेक्नोलॉजी की मदद से इस पानी को बाहर निकलवाया। इसी के साथ उन्होंने निर्माण कार्य शुरू किया। निर्माण कार्य के लिए इंडिया, फिलिपिंस, जापान, नेपाल, पाकिस्तान और बांग्लादेश के मजदूरों को बुलाया जाता था। मोहमद शेख को पता था कि ज्यादा अच्छी तरह से काम करने वाले मजदूर यहीं से मिल सकते हैं। इन मजदूरों से यहां पर काफी ज्यादा काम लिया जाता था।

स्मार्ट टेक्नोलॉजी: दुबई के मॉडर्न टेक्नोलॉजी ने दुबई को आगे बढ़ने में बहुत मेहनत की है। दुबई के अधिकतर चीजों का ऑटोमेटिक कर दिया। जैसे कोई भी ट्रैक के नियम तोड़ने से चलाना अपने आप कट जाता है। और मेन पावर का खर्च काफी बच जाता है।

यहां के पुलिस स्टेशन को स्मार्ट बना दिया गया है। ज्यादातर पुलिस स्टेशन में वहां पुलिस ही नहीं होते। कुछ से जाकर वहां पर केस फाइल खुद कर सकता है। और किसी भी तरह के क्रिमिनल रिकॉर्ड को चेक कर सकता है।