Home रोचक तथ्य ऐसे बर्बाद हो गया अनिल अम्बानी !

ऐसे बर्बाद हो गया अनिल अम्बानी !

बात साल 2002 की है। जब दो बेटे मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी के पिता धीरूभाई अंबानी की मौत हो गई। धीरूभाई अंबानी की पत्नी कोकिलाबेन ने पूरी संपत्ति का बंटवारा कर दिया।

बंटवारे के बाद छोटे बेटे अनिल अंबानी के पास 45 अरब डॉलर और बड़े बेटे मुकेश अंबानी के पास भी लगभग इतनी ही संपत्ति थे। दुनिया का मानना था कि बड़े बेटा से अधिक संपत्ति छोटे बेटे के पास है।

पर साल दर साल ऐसा हुआ कि छोटा बेटा अनिल अंबानी धीरे-धीरे बर्बाद हो गया। आखिरकार ऐसा क्या हुआ कि अनिल अंबानी को जेल जाने की नौबत आ गई। यहां तक कि अदालत ने भी धीरूभाई अंबानी के छोटे बेटे को दिवालिया घोषित कर दिया। तो चलिए शुरू करते हैं:-

सारी दुनिया को यह उम्मीद है कि धीरुभाई अंबानी की संपत्ति को दोनों बेटे आगे बढ़ाएंगे। लेकिन महज 2 साल के भीतर ही दोनों बेटो मे आपस में लड़ाई छीड़ गई।

धीरुभाई अंबानी की पत्नी कोकिलाबेन समराज्य का दो बंटवारा कर दिया। मुकेश अंबानी की मां ने ऑयल रिफायनरी का कारोबार उन्हें सौंप दिया। और छोटे बेटे अनिल अंबानी को और भी ज्यादा कारोबार सौंपा गया।

उस समय अनिल अंबानी की गिनती सबसे अमीर व्यक्ति में की जाती थी। विशेषज्ञों का मानना था कि छोटे भाई अनिल अंबानी को अचानक से इतने सारे संपत्ति का मालिक होने की वजह से वह संभल नहीं पाया।

सोचने समझने की शक्ति लगभग हो चुका था। अनिल अंबानी ने हर चीज में पैसा बहाना शुरू कर दिया जिससे वह पसंद करता था। लेकिन उनके पास कोई ऐसा धंधा नहीं था जिससे कोई इनकम हो सके ।

मुकेश अंबानी बिना कोई शोर शराबा किए हाई स्पीड इंटरनेट रिलायंस जिओ मोबाइल को मार्केट में उतारा। और फ्री कॉलिंग के विचार को देश के कोने कोने में फैला दिया।

दूसरी और अनिल अंबानी लगातार लुढ़कते ही जा रहे थे। 2018 आते-आते अनिल अंबानी की संपत्ति 2.4 मिलियन डॉलर ही रह गई। और अमीरों के लिस्ट में वह 66 नंबर पर आ गए। इसके साथ ही अनिल अंबानी के कर्ज भी बढ़ते जा रहे थे। और आज 45 हजार करोड हो चुका है।

देश के अमीर लिस्ट में शामिल हो चुके अनिल अंबानी और कंगाल हो चुके हैं। और अब उनका नाम दो हजार लोगों में भी नहीं है। दरसल, बंटवारे के वक्त उनके हिस्से में जो भी कंपनियां आई उन पर वे कम ध्यान दिये।

जुलाई 2020 में 29 करोड़ का लोन नहीं चुकाने पर यस बैंक ने उनसे हेड क्वार्टर भी छीन लिया।

उसके बाद जून में 12 सौ करोड़ का लोन नहीं चुकाने पर भारतीय स्टेट बैंक ने अनिल अंबानी को कोर्ट तक घसीटा था। आज दुनिया ने भी अनिल अंबानी का नाम भूलना शुरू कर दिया है।