Home रोचक तथ्य गलती से भी 2025 के पहले न खोले वरना ….

गलती से भी 2025 के पहले न खोले वरना ….

दोस्तों विज्ञान और मनुष्य का दिमाग इस वक्त कितना आगे निकाल गया हैं इसका अंडागा लगाना हमारे लिए नामुमकिन हैं। दोस्तों क्या आपने कभी सोचा हैं की अगर आप चाहे तो भविष्य के लोगो के साथ कम्यूकेट कर सकते हैं जी हाँ दोस्तों आप ऐसा कर सकते हैं इसके लिए आपको स्पेसल कागज के अंदर कुछ लिखना होता हैं और फिर आपको एक कैप्सूल मे डालकर उसे छुपाना होता हैं जहां उसे 200 या तो 500 सालो मे पढ़ ले इसी प्रक्रिया को टाइम कैप्सूल कहा जाता हैं।

TULSA OKLAHOMA :- दोस्तों यह बात हैं तुलसा ओक्लाहोमा की जो अमेरिका मे स्थित हैं यहाँ के लोग साल 1957 मे एक कार को ही दफना दिया था ताकि आज के 50 साल बाद दुनिया को पता चल सके की 1957 मे लोग किस प्रकार के कार उपयोग करते थे। हलकी जब 2007 मे इस कार को बाहर निकाला गया तो उस कार की हालत बहुत ही बुरी थी। हलकी इसका पैकिंग बहुत अच्छे से किया गया था लेकिन उस वक्त के लोगो का ध्यान जमीन के अंदर पानी पर नहीं गया। पानी के संपर्क मे आने के बाद यह पूरी तरह के जंग खा चूंकि थी।

INDRA GANDHI :- इंदिरा गाँधी अपने राजनीति करियर की शीर्ष पर थी उसकी सरकार स्वतन्त्रता की 25वीं वर्षगांठ को यादगार तरीके से माना चाहती थी इसके लिए एक योजना बनाई गयी की 15 अगस्त 1973 को लाल किला के परिसर मे एक टाइम कैप्सूल दबाया जाएगा। इंदिरा गाँधी ने इस टाइम कैप्सूल का नाम दिया था KAAL पात्र काल पात्र कपसूल मे आजादी के 25 सालो की उपलब्धि का विशेष विवरण होगा। साथ ही देश की प्राचीन इतिहास से लेकर आधुनिक समय तक का क्या उलेखिनिय होगा। इसकी ज़िम्मेदारी भारतीय इतिहास भारतीय अनुसंधान परिसर को दी गयी। KAAL पात्र मो जमीन के अंदर दफनाने के लिए कुल 8 हजार खर्च हुए औए उसे बाहर निकलवाने मे सरकार के 58 हजार रूपये खर्च हुए।

STIVE JOBS :- स्टीवे जॉब्स का जीवन हर किसी के लिए प्रेणादायक हैं उन्होने जिस तरह अपने संधर्ष से जीवन मे सफलता हा आयाम हासिल किया वो वाकई काबिल तारीफ हैं। दरअसल साल 1983 मे जब आई पैड बनाने की शुरुआत की तो उनके दिमाग मे एक ख्याल आया की एक टाइम कैप्सूल को खरीद कर उसमे कुछ डिवाइस को रख कर दर्शको के लिए कुछ छोड़ दिया जाए ताकि भविष्य मे किसी को मिले तो उसे पता चल सके की 1983 मे लोग किस तरह के टेकनोंलॉजी का इत्तेमल कराते थे इसके लिए उन्होने एक टाइम कैप्सूल खरीदी और उसमे कुछ समान जैसे की BEAR BOTTEL, पुराने कंप्यूटर का MOUSE जैसे समान टाइम कैप्सूल के अंदर दल कर जमीन के अंदर गाड़ दिया। 2013 मे इसे ढूंढ लिया।

JULES GABRIEL VERNE :- इनका नाम तो आपने सुना ही होगा। इनका जन्म के बारे मे कुछ खास जानकारी तो नहीं हैं लेकिन इनकी मृत्यु 1905 मे हुई थी। आपको यह जानकार हैरानी होगी की उन्होने भी एक टाइम कैप्सूल को खरीदा था जिसके अंदर उन्होने अपने समय के कई सारी चींजे को राखी थी उन्होने टाइम कैप्सूल को जमीन के अंदर कब डाला इसकी जानकारी को किसी को नहीं हैं लेकिन हा इसे 2017 मे खोला गया था। आर्टोलोजिक के अनुमान से इसे 125 साल पुराना बताया जा रहा हैं।

JAMES R KILLING :- इनहोने भी एक टाइम कैप्सूल को खरीदा था और उसमे कुछ अपने जमाने के चिंजों को रखकर जमीन के अंदर गाड़ दिया औए उस टाइम कपसूल के ऊपर लिखा था की इसे 2957 मे न खोला जाए। यह कैप्सूल किसी वरकश ने उसे फिर से वही दफना दिया ताकि जब यह कैप्सूल 1000 साल बाद खोला जाए तो उसे पता चले की पहले के जमाने मे इस तरह का टेकनोंलॉजी का इस्तेमाल किया जाता था।