Home सेलेब्रिटी फिल्म जानवर मे अक्षय कुमार का बेटा बनने वाला ‘राजू’ अब इतना...

फिल्म जानवर मे अक्षय कुमार का बेटा बनने वाला ‘राजू’ अब इतना बड़ा हो गया…

हैलो दोस्तो, आप सभी ने जानवर फिल्म मे अक्षय कुमार का बेटा बनने वाले बच्चे को तो पहचानते ही होंगे। वैसे तो, अक्षय कुमार वर्तमान में बॉलीवुड के सबसे सफल अभिनेता माने जाते हैं. दरअसल ये अभिनेता अपनी फिटनेस और बहुमुखी प्रतिभा के लिए दुनियाभर में मशहूर हैं. अक्की ने अपने लम्बे करियर में कई ऐसी फ़िल्में की हैं, जो फैन्स के दिलों पर राज कर रही हैं. एक ऐसी ही फिल्म 1999 में रिलीज हुई ‘जानवर’ थी।

इस फिल्म के लिए अक्षय कुमार को खूब प्रसंशा मिली थी. दरअसल ये फिल्म उनके करियर के लिए भी महत्वपूर्ण साबित हुई थी. लेकिन आज इस लेख में हम अक्षय कुमार नहीं बल्कि इस फिल्म में अक्षय के बेटे का किरदार निभाने वाले ‘राजू’ के बारे में जानेगे. बता दे राजू का जबरदस्त किरदार अभिनेता आदित्य कपाड़िया ने निभाया था, जोकि अब काफी बढे हो गए हैं और वह पर्सनालिटी में बड़े-बड़ों को टक्कर देते हैं. जब ये फिल्म रिलीज हुई थी जब आदित्या महज 13 साल के थे हालाँकि अब वह 35 साल के हो गए हैं।

आदित्य कपाड़िया की एक फोटो इन दिनों सोशल मीडिया पर धूम बचा रही हैं. इस फोटो में आदित्य को देखकर पहचाना पाना मुश्किल हैं तो वह ‘जानवर’ फिल्म के राजू हैं।

बता दे आदित्या कपाड़िया का जन्म 14 नवम्बर 1986 को मुंबई में हुआ था. इस इस अभिनेता ने अपने करियर में हिंदी गुजराती भाषा की कई फिल्मों में काम किया हैं।

आदित्य कपाड़िया का करियर:- आदित्य ने टेलीविजन पर डेब्यू इधर उधर और जस्ट मोहब्बत से बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट किया था. उसके बाद उन्होंने बॉलीवुड फिल्म जानवर में अक्षय कुमार के बेटे का किरदार निभाया था. इसके आलावा उन्होंने झुमरू के रूप में शाका लका बूम बूम, एक दूसरे से करते हैं प्यार हम में शाश्वत निखिलेश मजूमदार के रूप में और ‘कम्बाला इन्वेस्टीगेशन एजेंसी’ जैसे धारावाहिक में ईशान मेहरा का किरदार निभाया. आदित्य ने अदालत में मुकुल श्रीवास्तव के रूप में खूब तारीफ बटौरी थी।

आदित्य की फोटोज:-

Disclaimer- इस एपिषोड की सामाग्री शोध पर आधारित हैं, और वेब, लेखो और समाचार पात्रो पर अध्ययन किया गया हैं। हम यह दावा नहीं देते हैं कि हमने जो जानकारी एकत्रित की हैं वह 100 प्रतिशत सटीक हैं। हमारी सामाग्री सिर्फ मनोरंजन के उद्धेश्य से हैं। हमारा इरादा किसी को चोट पहुंचाने का नहीं हैं।