Home अजब गजब रेलवे ट्रैक पर बुआ ने अपने 3 साल के भतीजे की बचाई...

रेलवे ट्रैक पर बुआ ने अपने 3 साल के भतीजे की बचाई जान, लेकिन बुआ के उड़ गए चिथड़े…

हैलो दोस्तो, मुरादाबाद मे एक ऐसी घटना सामने आई हैं, जिसे सुनने के बाद सभी की आंखे नम हो गई। देश मे ट्रेन के हादसे तो अक्सर होते ही रहते हैं, और आए दिन उससे मौत होते ही रहती हैं। यह खबर है उत्तर प्रदेश की मुरादाबाद की जहां पर इस घटना के बारे में जानकर हर किसी की आंख नम हो गई। ट्रेन के हादसे में एक युवती ने अपने जान को कुर्बान कर के 3 साल के बच्चे की जान बचा दी। उस बच्चे की जान तो बच गयी लेकिन बच्चे को बचाने वाले की जान चली गयी। चलिये हम इसके बारे मे विस्तार से जानते हैं:-

यूपी के मुरादाबाद में ट्रेन के हादसे में एक युवती ने अपने जान को कुर्बान कर के 3 साल के बच्चे की जान बचा दी। रिश्ते में वह उसका भतीजा था। मतलब कि स हादसे से मासूम की जान तो बच गई लेकिन बुआ की मौत हो गई इस हादसे ने बुआ भतीजे के अटूट प्रेम की मिसाल लोगो के सामने कायम करता है।

आपको बता दें कि मुरादाबाद में 3 साल का बच्चा रेलवे लाइन में जाकर फस गया उसी दौरान सामने से एक तेज रफ्तार में ट्रेन चली आ रही थी….

ऐसे में 20 वर्षीय बुआ ने बच्चे को ट्रक से निकालने की ताबड़तोड़ कोशिश की। लेकिन वह नाकाम रही अंत में उसे कोई रास्ता न सूझा तो उसने बच्चे को बचाने के लिए खुद ही उसके ऊपर लेट जाना सही समझा, और कुछ ही सेकंड में बुआ भतीजे के ऊपर से ट्रेन सरसराती हुई गुजर गई और युवती के चार चिथड़े उड़ गए।

इस हादसे मे बुआ की तो जान चली गयी लेकिन उस मासूम बच्चे को कुछ नहीं हुआ।

एक रिपोर्ट के अनुसार 20 साल की शशि बाला मुरादाबाद की कुंदरकी थाना क्षेत्र के हुसैनपुर गांव की निवासी है। एक शादी में सरीख होने के लिए वह अपने ननिहाल भैंसिया आई हुई थी।ऐसे में जब शादी की पूरी रस्में अदा हो गई तो सारे लोग वहां से लौटने लगे तभी पुल पर रेलवे ट्रैक में 3 साल के बच्चे आरव का पैर जाने फस गया और सामने से ट्रेन आ गई।

20 साल की शशिबाला मुरादाबाद के कुंदरकी थाना क्षेत्र के हुसैनपुर गांव में रहती थी, एक शादी में शामिल होने के लिए अपने ननिहाल भैंसिया आई हुई थी। ऐसे में जब शादी की एक रस्‍म के बाद सारे लोग लौट रहे थे तभी पुल पर रेलवे ट्रेक में 3 साल के बच्‍चे आरव का पैर फंस गया और उसके बाद सामने से ट्रेन आ गई।

इस हादसे के बाद घर में सन्नाटा पसरा हुआ है वही औरों को कुछ छोटे आई है और उसका इलाज हो रहा है।

पुजा करने के दौरान हुआ हादसा:- कुआं पूजन के बाद रेलवे लाइन पार कर रहे थे लोग। गुरुवार की शाम को कुआं पूजन के कार्यक्रम के चलते शशिबाला पूरे परिवार के साथ मुरादाबाद -लखनऊ रेलवे लाइन के दूसरी तरफ गई हुई थी।

कुआं पूजन से लौटते समय शशिबाला के मामा के लड़के आरव जिसकी उम्र 3 साल है का पैर पुल पर रेलवे लाइन में फस गया और आरव के पिता आनंद प्रकाश है।इसी समय उसे ट्रेन का हॉर्न सुनाई दिया, उसे कुछ रास्ता ना दिखा तो अंत में उसने अपनी जान देकर आरव की जान बचाई।