Home सेलेब्रिटी बपचन में लिट्टी चोखा बेचा, पिता बेचते थे चना, ऐसे बने खेसारी...

बपचन में लिट्टी चोखा बेचा, पिता बेचते थे चना, ऐसे बने खेसारी लाल यादव बड़े सुपरस्टार, पढ़े संघर्ष की कहानी

खेसारी लाल यादव बहुत संघर्ष के बाद भोजपुरी सिनेमा का हिस्सा बने थे. इन दिनों वह अपनी एक वीडियो को लेकर चर्चा में आ गए हैं. असल में भोजपुरी एक्ट्रेस काजल राघवानी ने खेसारी पर हाल ही में कुछ आरोप लगाए थे, जिनसे परेशान सुपरस्टार खेसारी लाल यादव ने कहा है कि इंडस्ट्री के कुछ लोग उन्हें दूसरा सुशांत सिंह राजपूत बनाने की कोशिश कर रहे हैं. खेसारी ने एक वीडियो जारी करते हुए काजल के आरोपों का जवाब दिया है और कहा है कि वह इतने कमजोर नहीं है कि लोगों के इस तरह के आरोप लगाने पर कोई गलत कदम उठा लेंगे.

हम आपको आज बता रहे हैं खेसारी की जिंदगी के बारे में. खेसारी लाल यादव का जन्म छपरा, बिहार में 3 जुलाई 1986 को हुआ था. वे मंगरू लाल यादव के बेटे हैं. खेसारी भोजपुरी फिल्मों के एक्टर और सिंगर हैं. उन्होंने फेमस सॉन्ग ठीक है… गाया है. माल भेटइ मेला उनका पहला म्यूजिक एल्बम था. उन्होंने पियवा गए रे हमार सऊदी रे भउजी, लगा के मच्छर दानी राजा, लहंगे में मीटर आदि संग अन्य गाने गाए हैं. खेसारी भक्ति गीत भी गाते हैं.

अपने स्ट्रगल के दिनों में खेसारी बतौर सिंगर और डांसर बिहार की लोकल शादियों में परफॉर्म किया करते थे. अपनी जिंदगी में एक समय खेसारी को घर चलाने के लिए लिट्टी-चोखा भी बेचना पड़ा था. खेसारी के पिता चना बेचा करते थे और रात को गार्ड की नौकरी करते थे. खेसारी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनके कैसेट लॉन्च करने का सपना पूरा करने के लिए उनके पिता ने उन्हें किसी तरह 12 हजार रुपये जोड़कर दिए थे.

हालांकि खेसारी की यह कैसेट फ्लॉप हो गई थी. इसके बाद उनके पिता ने उन्हें 15 हजार रुपये जोड़कर दिए, जिससे उन्होंने एक और कैसेट लॉन्च की. अफसोस यह भी फ्लॉप साबित हुई. बाद में पिता ने खेसारी को 8 हजार रुपये दिए. इसमें खेसारी ने अपने जमा किए 25000 रुपये मिलाए और एक और कैसेट लॉन्च की, जो हिट साबित हुई थी. यहीं से खेसारी की सफलता पाने का रास्ता खुला था.

बात करें खेसारी की वीडियो के बारे में तो बता दें कि काजल ने एक इंटरव्यू में उन पर कई गंभीर आरोप लगाए थे. काजल ने कहा था, “खेसारी मुझे सोशल मीडिया पर गालियां दिलवा रहे हैं और मुझे बदनाम करने कोशिश कर रहे हैं. मैं भी इंटरव्यू देती हूं लेकिन मैंने कभी ऐसा नहीं बोला कि मुझे किसी ने धोखा दिया है. मुझे लाइव आकर रोने की आदत भी नहीं है.”

काजल ने खेसारी के बारे में ये भी कहा कि वह भोजपुरी इंडस्ट्री में जो कुछ भी हैं वो सिर्फ पवन सिंह की वजह से हैं. वहीं इस बयान को लेकर खेसारी ने काजल पर तंज कसते हुए कहा- संघर्ष में मेरी कोई उपलब्धि नहीं थी लेकिन अगर उसके बाद कोई फिल्म हिट हो जाती तो मुझे भी अच्छा लगता. मुझे बड़ी खुशी होती अगर ऐसा होता कि खेसारी के बाद कोई फिल्म हिट हो गई.

उन्होंने कहा कि वो 2011 से आए हैं तभी से वो कई लोगों को चुभ रहे हैं. खेसारी ने कहा- जैसा बॉलीवुड इंडस्ट्री में सुशांत सिंह राजपूत के साथ बर्ताव हुआ है, वैसा ही मेरे साथ भी हो रहा है लेकिन मैं कमजोर नहीं हूं ऐसा कदम नहीं उठाऊंगा. खेसारी ने कहा, “आपकी बातों से कोई फर्क नहीं पड़ता है, लेकिन मैंने आपके लिए बहुत कुछ किया है इसलिए मुझसे प्यार करो प्लीज. मैं उतना बुरा नहीं हूं जितना आप सोच रहे हैं.”