Home सेलेब्रिटी खेसारी लाल यादव ने बयां किया अपना दर्द, कहा-फिल्मों में साड़ी पहनने...

खेसारी लाल यादव ने बयां किया अपना दर्द, कहा-फिल्मों में साड़ी पहनने पर लोग बोलते थे..

खेसारी लाल यादव आज किसी पहचान के मोह-ताज नहीं है। वो भोजपुरी के सबसे बड़े कला-कारों में से एक हैं। आज भले ही उन्हें हर कोई जानता हो, लेकिन एक समय ऐसा था जब खेसारी लाल यादव ने भोज-पुरी फिल्मों में अपनी जगह बनाने के लिए काफी संघर्ष कर रहे थे। खेसारी लाल यादव ने भोज-पुरी सिनेमा जगत में अर्श से फर्श तक का सफर तय किया है। लेकिन शुरु-आती दौर में जब खेसारी लाल यादव ने अपने करियर की शुरुआत की थी तो उस दौरान उन्होंने कई ऐसे एल्बम किए थे जिसमें उन्होंने लड़की बनकर डांस किया।

लेकिन जब वो फिल्में करने के लिए आए तो उन्हें अपनी छवि बदलने के लिए बॉली-वुड में कड़ी मश-क्कत करनी पड़ी। खेसारी लाल यादव ने बताया कि इस दौरान उन्हें कई भेदभाव का सामना भी किया। उन्होंने कहा लोगों ने अपने मन में एक छवि बना ली थी कि ये औरतों के कपड़े पहनकर डांस करता है। साथ ही उन्होंने बताया कि अपनी छवि को तोड़ने के लिए भी उन्हें कड़ी मश-क्कत करनी पड़ी।

एक मीडिया से बातचीत के दौरान खेसारी लाल यादव ने अपना दर्द बयां करते हुए बताया था कि इंडस्ट्री के लोगों ने उन्हें नकार दिया था। उन्होंने कहा, ‘जब मैं फिल्म जगत में आया था तो मैंने अपनी कई एल्बम में लड़की बनकर डांस किया था। मैंने जब लड़की बनकर डांस किया तो मुझे पूरी इंडस्ट्री ये कहकर नकारती थी कि ये मर्द नहीं है , ये महिला है और ऐसे लोग हीरो नहीं बनते।

आगे अपने सफर के बारे में बताते हुए खेसारी लाल यादव ने कहा, ‘मुझे लगता है अपनी परछाई से अलग होना बहुत ही मुश्किल है। मैंने अपनी छवि बदलने की कोशिश की और वो संभव हो पाया सिर्फ जनता के प्यार से। अगर जनता का प्यार है तो कुछ भी बदल सकता है। मेरे ऊपर टैग लगा था ये आदमी नामर्द है। मैंने लोगों से कहा ये मेरी कला है और मैं कुछ भी कर सकता हूं। मुझे बहुत मेहनत करनी पड़ी और मैंने अपने आप को साबित कर दिया।

खेसारी लाल यादव ने अपने करियर के शुरुआती दौर में एक लंबा चौड़ा संघर्ष किया है। उन्होंने बताया कि फिल्म जगत में आने से पहले वो लिट्टी चोखा बेचा करते थे। उनका बचपन काफी गरीबी में बीता। घर में गरीबी इतनी कि सभी भाइयों के लिए सिर्फ एक ही कपड़ा खरीदा जाता था। उनके पिता अपने परिवार के पालन-पोषण के लिए दिन में चने बेचते थे और रात को गार्ड की नौकरी करते थे।

खेसारी लाल यादव जब छोटे थे तो वो अक्सर दूध बेचा करते थे ताकि उनके पास कुछ पैसे आए और वो उनसे मेले में जाकर मिठाई खा सकें। खेसारी लाल यादव ने कपिल शर्मा के शो में अपने बचपन के संघर्षों के बारे में बताया था और साथ ही फिल्मी सफर को लेकर भी कई खुलासे किए थे।