जोक्स

हिंदी मजेदार जोक्स : लड़की ने बॉयफ्रेंड को फ़ोन किया और धिर्व से बोला..

अगर आपको खुस हसना हैं तो पोस्ट पूरा पढो एक से एक मजेदार जोक्स पढने को मिलने वाला हैं. आजकल के स्ट्रेस भरे जीवन में हँसना मुस्कुराना तो सभी भूल सा ही गए हैं. अगर आप जीवन में हमेशा स्वस्थ रहना चाहते हैं तो उसका सबसे अच्छा उपाय हैं आप हमेशा हस्ते रह. लाइफ में इतना काम हैं की इंसान हसना भूल गया हैं और वक़्त भी नहीं मिल पाता. हमें आपके स्वस्थ की बहुत चिंता हैं इसलिए आपको हँसाने के लिए हम हमेशा मजेदार फनी जोक्स लाते रहते हैं, तो चलिए शुरू करते हैं मजेदार जोक्स पढना..

जोक्स नंबर 1 : शहर में दारू के ठेके रात 10 बजे बन्द होने का नियम लागू हुआ ही था कि एक शराबी बाइक लेकर तेजी से ठेके पर पहुंचा। ठेका बंद होने में 5 मिनट ही बचे थे। दारू की बोतल खरीदकर, बहुत खुश होकर शराबी ने वह बोतल अपनी बेल्ट में फंसाई और बाइक स्टार्ट कर दी। थोड़ी दूर जाकर स्पीड ब्रेकर पर बाइक डिसबैलेंस हुई और शराबी बाइक सहित गिर पड़ा। शराबी का हाथ अपने पेट पर गया, तो उसे कुछ गीला महसूस हुआ। उसने बुदबुदाते हुए कहा- रब करे खून ही होवे।

ये भी पढ़े : बिना मेकअप के ऐसे दिखती हैं भोजपुरी फिल्म के एक्ट्रेस , पहचानना हुआ मुश्किल !

जोक्स नंबर 2 : संता के घर 20 साल बाद बच्चा हुआ, फिर भी संता खुश नहीं था। बहुत उदास था। बंता: तू खुश नहीं है? संता: यार, एक तो 20 साल बाद बच्चा हुआ, वह भी इत्ता सा!

जोक्स नंबर 3 : वाइफ: जरा किचन से नमक लेते आना। हज्बंड: यहां तो कहीं नमक नहीं है। वाइफ: तुम तो हो ही अंधे, कामचोर हो। एक काम ढंग से नहीं कर सकते, बस बहाने बनाते रहते हो। जिंदगी में कुछ तो काम करो। मुझे पता था कि तुम्हें नहीं मिलेगा, इसलिए पहले ही ले आई थी। हज्बंड शॉक्ड!!

जोक्स नंबर 4 : एक खरगोश रोज लोहार की दुकान पर जाता और पूछता, गाजर है क्या? लोहार रोज इनकार कर देता, फिर भी खरगोश अगले दिन उसी सवाल के साथ टपक पड़ता। एक दिन लोहार को बहुत गुस्सा आया और उसने हथौड़े से खरगोश के आगे के दांत तोड़ दिए और बोला, अब तू गाजर खाकर दिखा। अगले दिन खरगोश फिर आ गया और पूछा, गाजर का हलवा है क्या?

जोक्स नंबर 5 : एक लड़की बहुत देर से मेडिकल स्टोर के बाहर खड़ी थी। दुकान में ग्राहकों की भारी भीड़ थी। लड़की परेशान सी भीड़ के हटने का इंतज़ार कर रही थी। काफी देर बाद जब भीड़ छंटी तो लड़की सकुचाते हुए दुकानदार के पास गई। उसने धीरे से इधर-उधर देखकर एक परचा दुकानदार दिया और बोली…..भाई साहब, मेरे होने वाले पति डॉक्टर हैं……यह उनका प्रेम पत्र है, पढ़ कर सुना देंगे प्लीज।