जोक्स

मजेदार जोक्स: विदाई के समय दूल्हे का मोबाइल बजा दुल्हन ने जोर का थप्पड़ जड़ दिया, रिश्तेदार- ऐसा क्यों? दुल्हन-

मजेदार जोक्स: विदाई के समय दूल्हे का मोबाइल बजा दुल्हन ने जोर का थप्पड़ जड़ दिया, रिश्तेदार- ऐसा क्यों? दुल्हन-

जोक्स नंबर 1: विदाई के समय दूल्हे का मोबाइल बजा दुल्हन ने जोर का थप्पड़ जड़ दिया.रिश्तेदार- ऐसा क्यों ?क्योंकि उसकी रिंगटोन थी- “दिल में छुपाकर प्यार का अरमान ले चले….हम आज अपनी मौत का सामान ले चले”.

जोक्स नंबर 2: टीचर- लॉफर और ऑफर में क्या फर्क है?स्टूडेंट- बहुत आसान है मैमआई लव यू अगर लड़का कहे तो लॉफरलड़की कहे तो ऑफरदे थप्पड़…दे थप्पड़…दे थप्पड़…

जोक्स नंबर 3: मुसीबत में भी पत्नी से कभी पैसे उधार ना लें…मैंने दो साल पहले 20 हजार लिए थे.50 हजार दे चूका हूं …अभी भी 25 बाकी हैं,पता नहीं कौन सा हिसाब लगाती हैं.

जोक्स नंबर 4: नितिन- यार बताओ I am going का अर्थ क्या होता है?मोहन- मैं जा रहा हूं.नितिन- ऐसे कैसे चले जाओगे? यह सवाल मैं 10 लोगों से पूछ चुका हूं. सब कहते हैं कि मैं जा रहा हूं.इसका सही जवाब बताकर जाओ जहां जाना है.

जोक्स नंबर 5: पति के जन्मदिन पर पत्नी- क्या गिफ्ट दूं?पति- तुम मुझे इज्ज़त दो, कहना मानो यही काफी है.पत्नी- नहीं, मैं तो गिफ्ट ही दूंगी.

जोक्स नंबर 6: एक बार पति-पत्नी घूमने जा रहे थे.रास्ते मे गधा मिला, पत्नी को मजाक सूझी.पत्नी – आपके रिश्तेदार हैं, नमस्ते करोपति भी कम नहीं था…बोला, “ससुर जी नमस्ते”.

जोक्स नंबर 7: बबलू – ऐसा लगता है कि वो लड़की ऊंचा सुनती है.मैं कुछ कहता हूं वो कुछ और ही बोलती है.डबलू- वो कैसे?बबलू- मैंने कहा… आई लव यू,तो वह बोली मैंने कल ही नए सैंडल खरीदे हैं.

जोक्स नंबर 8: मास्टर जी- पढ़ाई शुरू कर दो, पेपर आने वाले हैंगोलू- मैं तो खूब पढ़ाई करता हूं, कुछ भी पूछ लोमास्टर जी- बता ताज महल किसने बनाया?गोलू- मिस्त्री नेमास्टर जी- किसने बनवायागोलू- ठेकेदार ने बनवाया होगा.

जोक्स नंबर 9: बंटी अपनी मां और पिता के साथ होटल में खाना खाने गया.वहां एक आदमी सिगरेट पी रहा था.बंटी- भाई साहब, आप सिगरेट बाहर जाकर पिएं, हमारे पेरेंट्स हमारे साथ हैं.आदमी- तो क्या हुआ?बंटी- तो क्या, मेरा भी मन हो रहा है पीने का.

जोक्स नंबर 10: पत्नी में वो शक्ति है,जिसके घूरने मात्र से ही.लौकी की सब्जी में पनीर का स्वाद आने लगता है.सुनकर पत्नी बोली- अगली बार लौकी की सब्जी बनाउंगी तो यही करूंगी.