जोक्स

मजेदार जोक्स : स्मार्ट संता दो टिकट लेकर ट्रेन में सवार हुआ..

जोक्स नंबर 01: एक महिला के 3 दामाद थे. उसके दामाद उसे चाहते भी हैं या नहीं, यह जानने के लिए एक दिन वह पहले दामाद को लेकर तालाब के किनारे घूमने गई और उसमें कूद पड़ी.पहले दामाद ने उसे बचा लिया … सास ने उसे एक मारुति कार उपहार में दी.अगले दिन दूसरे दामाद के साथ तालाब किनारे घूमने गई और फिर कूद पड़ी.दूसरे दामाद ने भी बचा लिया ….. सास ने उसे एक मोटर साइकिल दी.एक दिन बाद तीसरे दामाद को लेकर गई और तालाब में कूद पड़ी. तीसरे दामाद ने सोचा – “लगता मुझे तो साइकिल ही मिलेगी … खामखाँ मेहनत करके क्या फायदा ?”और वह बचाने नहीं गया. सासू माँ डूब गई.लेकिन अगले दिन इस दामाद को मर्सिडीज कार मिली ….कैसे ?????अरे भाई … ससुर ने दी !

जोक्स नंबर 02: कंप्यूटर के एक्सपर्ट एक शहरी बाबू को फ़टाफ़ट अमीर बनने का जब कोई दूसरा उपाय न सूझा तो उन्होंने नोट छापने का ही निश्चय कर लिया.उन्होंने 15 – 15 रुपये के नोट छाप लिए और उन्हें चलाने की फिराक में घूमने लगे. अब चूंकि ये नोट शहर में तो चल नहीं सकते थे सो वे एक दूरदराज के ग्रामीण इलाके में जा पहुंचे.अपना नोट एक दुकानदार को दिखाते हुए बोले – “15 रुपये के नोट अभी – अभी सरकार ने चलाये हैं. शहर में तो खूब चलते हैं. यहाँ नहीं चलते क्या ?”दुकानदार बोला – “बिलकुल चलते हैं साहब …पर चिल्लर पर एक रुपया कम मिलेगा … कहो तो दे दूँ ?”शहरी बाबू मन ही मन खुश होते हुए बोले – “ठीक है भाई … चिल्लर की जरुरत है इसलिए मजबूरी है … लाओ एक रुपया कम ही दे दो …!”दुकानदार ने सात-सात रुपये के दो नोट उनकी तरफ बढ़ा दिए.

जोक्स नंबर 03: स्मार्ट संता दो टिकट लेकर ट्रेन में सवार हुआ. टिकट चेकर ने टिकट माँगा तो उसने दोनों दिखा दिए.टिकट चेकर ने पूछा – “दो टिकट खरीदने की क्या जरूरत थी ?”स्मार्ट संता – “अगर एक टिकट खो जाये तो कम से कम दूसरा तो रहे आपको दिखाने के लिए !”टिकट चेकर – “और अगर दोनों खो जाएँ तो ?”स्मार्ट संता – “तो भी कोई बात नहीं…. मेरे पास मंथली पास भी है …. !!!”

जोक्स नंबर 04: संता और बंता “जुरासिक पार्क” फिल्म देखने गए.फिल्म की शुरुआत में तो सब ठीक रहा लेकिन जैसे ही परदे पर डायनासौर आने शुरू हुए, संता सीट के नीचे दुबकने लगा.बंता – “डरता क्यों है यार ! सिनेमा ही तो है !”संता – “आदमी हूँ, इतनी अकल है मुझमें. जानता हूँ कि ये सिनेमा है लेकिन वो तो जानवर है … क्या वो जानता है ?”

जोक्स नंबर 05: संता – तूने इतने छोटे-छोटे बाल क्यों कटवाए ?बंता – तो और क्या करता ? नाई के पास मुझे वापस करने के लिए 5 रुपये छुट्टे ही नहीं थे तो 5 रुपये के और कटवाने पड़े !!!

जोक्स नंबर 06: संता के देर से ऑफिस पहुँचने पर …बॉस – “लेट क्यों हो गए ?”संता – “बस स्टॉप पर एक आदमी का सौ का नोट खो गया था इस वजह से देर हो गई.”बॉस – “अच्छा ! तो तुम नोट ढूँढने में उसकी मदद कर रहे थे … गुड !”संता – “नहीं सर ! दरअसल मैं उस नोट के ऊपर खड़ा था …. !”

जोक्स नंबर 07: संता के शहर में जोरदार भूकंप आया मगर सौभाग्य से संता का परिवार सुरक्षित बच गया. बुरी तरह से डरे हुए संता ने अपने दोनों बच्चों को सुरक्षा के लिहाज से अपने मित्र बंता के पास मुंबई भेज दिया.तीन दिन बाद ही संता को अपने मित्र बंता का तार मिला जिसमें लिखा था – “तुम्हारे बच्चों को वापिस भेज रहा हूँ. चाहो तो भूकंप को यहाँ भेज सकते हो … !”