Home जोक्स 9 मजेदार जोक्स : आज जो मैंने किया है उससे तुम्हारा सीना...

9 मजेदार जोक्स : आज जो मैंने किया है उससे तुम्हारा सीना गर्व से चौड़ा हो जायेगा..

अगर आपको खुस हसना हैं तो पोस्ट पूरा पढो एक से एक मजेदार जोक्स पढने को मिलने वाला हैं. आजकल के स्ट्रेस भरे जीवन में हँसना मुस्कुराना तो सभी भूल सा ही गए हैं. अगर आप जीवन में हमेशा स्वस्थ रहना चाहते हैं तो उसका सबसे अच्छा उपाय हैं आप हमेशा हस्ते रह. लाइफ में इतना काम हैं की इंसान हसना भूल गया हैं और वक़्त भी नहीं मिल पाता. हमें आपके स्वस्थ की बहुत चिंता हैं इसलिए आपको हँसाने के लिए हम हमेशा मजेदार फनी जोक्स लाते रहते हैं, तो चलिए शुरू करते हैं मजेदार जोक्स पढना..

Jokes no.1: छुट्टी का दिन था। पति महाशय सुबह-सुबह फेसबुक खोल कर बैठ गए। उनकी एक महिला मित्र ने सैंडविच का फोटो अपलोड करके लिखा, आओ सब नाश्ता करें। पति महाशय ने कॉमेंट किया, बहुत टेस्टी नाश्ता था, मजा आ गया। पत्नी ने यह कमेंट पढ़ लिया और पति को नाश्ता ही नहीँ दिया। 4 घंटे भूखा रखने के बाद पत्नी बोली, लंच घर पर करोगे या फेसबुक पर?

Jokes no.2: धर्म-पिता, मतलब असली पिता नहीं। धर्म-माता, मतलब असली माता नहीं। धर्म-पुत्र, मतलब असली पुत्र नहीं। धर्म-भाई, मतलब असली भाई नहीं। धर्म-बहिन, मतलब असली बहिन नहीं। लेकिन, धर्म-पत्नी, मतलब असली पत्नी! पता करो, शास्त्रों में कहां गड़बड़ हुई है?

Jokes no.3: नट्टू एक केमिस्ट की दुकान पर गया और बोला, भैया, मेरी मदद करोगे? केमिस्ट: हां-हां, बोलो? नट्टू ने एक दवा की बोतल से एक चम्मच लिक्विड निकाला और केमिस्ट को पिलाकर पूछा, मीठी है क्या? केमिस्ट: नहीं तो। नट्टू: बस यही पूछना था भैया। धन्यवाद! केमिस्ट: लेकिन, यह कौन सी दवा है? नट्टू: दरअसल, डॉक्टर ने बोला था यूरिन ‘टेस्ट’ करवाओ कि कहीं यूरिन में शुगर तो नहीं है।

Jokes no.4: बापू अपनी बिल्ली से तंग आकर उसे दूर छोड़ आए। घर आए, तो बिल्ली वापस आ चुकी थी। वह दूसरी बार छोड़ आए, और बिल्ली फिर वापस आ गई। तीसरी बार उसे बहुत दूर जंगल में छोड़कर आए। वापसी में अम्मा को फोन करके पूछा, क्या बिल्ली घर आ गई? अम्मा: हां….बापू: उस कमीनी को भेज यहां, मैं रास्ता भूल गया हूं।

Jokes no.5: 3 दोस्त एक ऊंची इमारत की 100वीं मंजिल पर रहते थे। एक दिन वे काम से घर लौटे तो लिफ्ट काम नहीं कर रही थी। दोस्तों ने सीढ़ियों से ऊपर जाने का फैसला किया। पहली 50 मंजिल तक एक दोस्त ने ऐक्शन फिल्म की स्टोरी सुनाई, और समय कट गया। इसके बाद 99 मंजिल तक दूसरे दोस्त ने एक रोमांटिक फिल्म की स्टोरी सुनाई। लेकिन, 100वीं मंजिल पर फ्लैट के बाहर पहुंचकर तीसरे दोस्त ने सिर्फ एक लाइन कही कि तीनों की आंख में आंसू आ गए। उसने कहा, मैं चाबी नीचे कार में ही छोड़ आया हूं। दोस्त, सच में कमीने होते हैं।